Advertisement

Updated May 15th, 2024 at 13:27 IST

'मुल्ला, माफिया, इमाम...अब TMC का नारा है', ममता बनर्जी पर बंगाल में बरसे अमित शाह

पश्चिम बंगाल के हुगली में अमित शाह ने ममता बनर्जी को घेरते हुए कहा कि ये राम मंदिर का विरोध करती हैं और रमजान में छुट्टी देती हैं।

Reported by: Digital Desk
Edited by: Dalchand Kumar
Amit Shah
गृह मंत्री अमित शाह | Image:ANI/File
Advertisement

Amit Shah Hooghly: गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी पर हमला बोला है। पश्चिम बंगाल के हुगली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी 'मां, माटी, मानुष' के नारे के साथ सत्ता में आईं, लेकिन ये नारा अब खो गया है। आज 'मुल्ला, माफिया, इमाम' इनका नारा बन गया है। ये राम मंदिर का विरोध करती हैं, राम नवमी पर जुलूस निकालने से मना करती हैं और रमजान में छुट्टी देती हैं।

अमित शाह ने कहा कि ममता दीदी के लोग लूट और भ्रष्टाचार करने में बिजी हैं। ममता दीदी कहती हैं ईडी का दुरुपयोग करते हैं, लेकिन मैं कहना चाहूंगा 'जो भ्रष्टाचार करेगा वो जेल जाएगा'। कोई बचेगा नहीं। शाह ने कहा कि आप अपने पल्लू में भी छिपा लोगी तो हम वहां से पकड़ कर जेल में भेजेंगे।

Advertisement

'ममता-कांग्रेस एक खास वोटबैंक से डरते हैं'

हुगली में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि ममता दीदी मुल्ला मौलवी को साथ में लेकर सद्भावना रैली निकालती हैं। जब राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा हो रहा था, ये लोग क्यों नहीं गए। क्योंकि ये लोग वोटबैंक से डरते हैं। इनका वोटबैंक घुसपैठिए हैं। अमित शाह ने कहा, 'वोट-बैंक के डर के कारण ना तो कांग्रेस नेता और ना ही ममता बनर्जी अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के पवित्र कार्यक्रम में शामिल हुईं। INDI Alliance के नेताओं को आपसे और देश से कोई लेना-देना नहीं है। उन्हें सिर्फ सत्ता और राजनीतिक लाभ की चिंता है। ये जानना शर्मनाक है कि घुसपैठिए ही ममता बनर्जी के लिए वास्तविक वोटबैंक हैं।'

Advertisement

परिवारवाद पर शाह ने किया कटाक्ष

परिवारवाद को लेकर भी अमित शाह ने टीएमसी-कांग्रेस जैसे दलों पर कटाक्ष किया। शाह ने कहा कि एक तरफ परिवारवादी पार्टियां हैं जो अपने परिवार के सदस्यों को बड़े राजनीतिक पदों पर बैठाने पर तुली हुई हैं। दूसरी तरफ नरेंद्र मोदी जैसे महान नेता हैं, जो एक साधारण पृष्ठभूमि से आते हैं, अत्यंत समर्पण और ईमानदारी के साथ देश की सेवा के लिए समर्पित हैं। आपको तय करना होगा कि देश की कमान किसके हाथ में दी जाए।

Advertisement

यह भी पढ़ें: 'कांग्रेस में दम है तो पताका हाथ लगाकर दिखा दे', स्मृति ईरानी का चैलेंज

Advertisement

Published May 15th, 2024 at 13:18 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo