Advertisement

Updated April 4th, 2024 at 08:47 IST

Puja Path Niyam: पूजा के दौरान इन बातों का रखें खास ध्यान, मिलेगा शुभ फल; हर मनोकामना होगी पूरी

Puja Path Ke Niyam: क्या आप जानते हैं कि भगवान की पूजा-पाठ करने के कई नियम होते हैं? आइए जानते हैं इस बारे में।

Reported by: Kajal .
Makar Sankranti puja
पूजा-पाठ के नियम | Image:Freepik
Advertisement

Puja Path Niyam: हिंदू धर्म में देवी-देवताओं की पूजा-पाठ करने का बेहद खास महत्व है। सुबह-शाम भगवान की पूजा करने से व्यक्ति के भीतर और घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। इससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है और बुरी नजर भी दूर रहती है।

वहीं, शास्त्रों में पूजा-पाठ के दौरान कई तरह के अहम नियम बताए गए हैं। जिनका पालन करने से पूजा को सफल और संपन्न माना जाता है। इन नियमों की अनदेखी करने से साधक पर इसका विपरित असर भी पड़ता है। इसलिए पूजा को सफल बनाने के लिए आपको इन नियमों का पालन जरूर करना चाहिए।

Advertisement

पूजा-पाठ के नियम (Rules of worship)

  • किसी भी तरह या किसी भी देवी-देवता की पूजा शुरू करने से पहले भगवान गणेश का नाम जरूर लें। इसके बाद ही पूजा पाठ करना आरंभ करें।
  • पूजा के दौरान दोनों हाथों को जोड़कर भगवान की आराधना करें। तभी पूजा का पूरा फल मिलता है।
  • शास्त्रों के अनुसार पूजा के दौरान घी का दीपक अपने बाईं ओर और भगवान के दाईं तरफ रखें।
  • जो व्यक्ति पूजा कर रहे है उसे अपने माथे पर तिलक लगाकर ही पूजा करनी चाहिए। साथ ही पूजा के दौरान घर के अन्य सदस्यों को भी माथे पर तिलक लगाना चाहिए।
  • पूजा के दौरान भगवान को फूल और भोग जरूर अर्पित करें। इससे वह जल्दी प्रसन्न होकर आपकी हर मनोकामना पूरी करते हैं।
  • पूजा के पश्चात शंख या घंटी जरूर बजाए। इससे नकारात्मक ऊर्जा का नाश और सकारात्मक ऊर्जा  का संचार होता है।
  • भगवान को भोग लगाने के बाद इस भोग को प्रसाद के रूप में सभी लोगों में वितरित करें।
  • पूजा-पाठ करने का सबसे अहम नियम है कि आपको रोजाना सुबह और शाम भगवान की आराधना करनी है। 

ये भी पढ़ें: Guruwar Vrat: रखना है गुरुवार का व्रत? जान लें कब से करें शुरू, ये नियम भी हैं जरूरी

Advertisement

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सिर्फ अलग-अलग सूचना और मान्यताओं पर आधारित है। REPUBLIC BHARAT इस आर्टिकल में दी गई किसी भी जानकारी की सत्‍यता और प्रमाणिकता का दावा नहीं करता है।

Published April 4th, 2024 at 07:20 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo