Advertisement

Updated May 15th, 2024 at 07:58 IST

हेल्थकेयर सेक्टर में हीलिंग फार्मा की ग्रोथ ने किया हैरान, अब 500 करोड़ की बिक्री का लक्ष्य

हीलिंग फार्मा ने 500 करोड़ का विशाल बिक्री लक्ष्य निर्धारित किया है, जिसे सुनकर फार्मास्युटिकल उद्योग की निगाहें उंन पर टिक गई हैं।

Reported by: Digital Desk
healing pharma
healing pharma | Image:Instagram
Advertisement

हीलिंग फार्मा ने 500 करोड़ का विशाल बिक्री लक्ष्य निर्धारित किया है, जिसे सुनकर फार्मास्युटिकल उद्योग की निगाहें उंन पर टिक गई हैं। कंपनी ने बेहद प्रतिस्पर्धी हेल्थकेयर के क्षेत्र में डायबिटिक, कार्डियक, ओवर-द-काउंटर और न्यूट्रास्युटिकल उत्पादों सहित जेनेरिक दवाओं की 800 से अधिक श्रेणी जारी अपनी मजबूत स्थिति दर्ज करायी है। यद्यपि बढते बाजारीकरण के दौर में एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा भी बढ़ रही है, लेकिन क्या सचमुच हीलिंग फार्मा अपने तय किये गये लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल हो सकता है, यह एक बड़ा सवाल है।

गौरतलब है कि वर्ष 2018 में अपनी शुरूआत के बाद हीलिंग फार्मा ने वित्त वर्ष 23-24 में 120 करोड़ की अद्भुत जेनेरिक बिक्री के साथ फार्मा क्षेत्र में अपनी एक खास जगह बना ली। भारतीय जेनरिक बाजार में कंपनी ने एंटीफंगल और डायबिटिक सेगमेंट के जरिये उपभोक्ताओं के साथ विश्वसनीय संबंध स्थापित किया है। हालांकि महज तीन वर्षों में अपने राजस्व की चार गुणा तक वृद्धि करना एक बडां अवरोध उत्पन्न करता है।

Advertisement

आंकड़े क्या कहते हैं?

वित्तीय वर्ष         लक्ष्य प्राप्ति
2018–2019    18 करोड़
2019–2020    34 करोड़
2020–2021    55 करोड़
2021–2022    78 करोड़
2022–2023    100 करोड़
2023–2024    120 करोड़

हीलिंग फार्मा के संयुक्त प्रबंध निदेशक श्री संजय पारेख और श्री हितेश जैन ने कंपनी की उपलब्धियों के बारे में बात करते हुए कहा कि 'उच्च गुणवत्ता, किफायती और असली उत्पाद श्रेणी की पेशकश हमारी सफलता का मूल मंत्र है। हर उत्पाद को कठोर नियामक देख-रेख और मजबूत गुणवत्ता के तहत एक सुरक्षित और उपयुक्त परिस्थिति में तैयार किया जाता है। हीलिंग फार्मा में हम सिर्फ सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले हेल्थकेयर उत्पादों को उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता सुनिश्चित करते हुए गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली(क्यूएमएस) में आवश्यक सुधार करने के लिये निरंतर प्रयत्नशील हैं।

Advertisement

हम गुणवत्ता एवं सुरक्षा मानकों बनाए रखने के लिये हमेशा जरूरी कदम उठाएंगे।’ हालांकि हीलिंग फार्मा का प्रबंधन आशावादी है, इसके बावजूद फार्मा उद्योग जगत इसके लक्ष्य के प्रति शंका जाहिर कर रहा है। कम समय में विशाल बिक्री लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये न केवल तेजी से विकसित बाजार और नवाचार की जरूरत है बल्कि नियामक अवरोधों को प्रबंधित करने और तीव्र परिवर्तित होते हेल्थकेयर परिवेश और आर्थिक परिस्थितियों का जवाब देने की क्षमता भी जरूरी है।

हीलिंग फार्मा, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और दिल्ली जैसे प्रमुख राज्यों में अपने कदम बढ़ा रहा है। हीलिंग फार्मा ने बाजार में नकली दवाओं से निपटने और असली दवाओं के लिए प्रामाणिकता विकसित करने के लिए सर्टिफिकेट ऑफ एनालिसिस (सीओए) के माध्यम से ऑन-द-गो प्रमाणीकरण के लिए प्रत्येक उत्पाद पर एक डिजिटल क्यूआर कोड लागू किया है। जिस प्रकार कंपनी अपने लक्ष्य के करीब पहुंच रही है, उद्योग जगत के महारथी यह देखने की प्रतीक्षा में हैं कि क्या वास्तव में हीलिंग फार्मा अपनी महत्वाकांक्षी इच्छा को वास्तविकता में परिवर्तित कर सकता है ?

Advertisement

हीलिंग फार्मा के बारे में-

फार्मास्युटिकल उद्योग में हीलिंग फार्मा, एक विश्वसनीय नाम है, जो देशभर में लोगों को उच्च गुणवत्ता वाली, किफायती जेनेरिक दवाएं और समाधान प्रदान करने के लिए जाना जाता है। हीलिंग फार्मा को 'ग्लोबल इंडियन बुक 2022' में प्रतिष्ठित शीर्षक 'फास्टेस्ट ग्रोइंग फार्मास्युटिकल कंपनीज', 'जेनेरिक फार्मा इंडस्ट्री में वर्ष की सबसे भरोसेमंद कंपनी' पुरस्कार 2023 और 2023 में महाराष्ट्र के माननीय उप मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडनवीस के द्वारा 'स्क्रॉल ऑफ ऑनर' पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 

Advertisement

Published May 15th, 2024 at 07:58 IST

आपकी आवाज. अब डायरेक्ट.

अपने विचार हमें भेजें, हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। यह खंड मॉडरेट किया गया है।

Advertisement

न्यूज़रूम से लेटेस्ट

19 घंटे पहलेे
23 घंटे पहलेे
1 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
4 दिन पहलेे
5 दिन पहलेे
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Whatsapp logo